शनिवार, 26 अक्तूबर 2013

दीपावली मिलन-सम्मान गोष्ठी संपन्न


हैदराबाद, 20 अक्टूबर, 2013.
ऑथर्स गिल्ड ऑफ इण्डिया, साहित्य गरिमा पुरस्कार समिति एवं कादम्बिनी क्लब  के तत्वावधान में रविवार दि.20 अक्तूबर को कृष्णदेवराय आंध्रभाषा निलयम भवन में क्लब की 254 वीं मासिक गोष्ठी में दीपावली मिलन एवं सम्मान समारोह का आयोजन किया गया |  डॉ.देवेन्द्र शर्मा ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की तथा  रामाश्रय गोयल (उ.प्र.), सुरेखा शर्मा (हरियाणा), विजय कुमार संपत्ति, डॉ.गोरखनाथ तिवारी, डॉ.जी.नीरजा, शिवराज सोनी, डॉ.अहिल्या मिश्र मंचासीन हुए |

 प्रथम सत्र में  शुभ्रा महंतो ने सरस्वती वंदना एवं दीपावली गीत प्रस्तुत किया | डॉ.अहिल्या मिश्र ने स्वागत भाषण में क्लब की 20 वर्षों की यात्रा को संक्षेप में बताया, साथ ही मंचासीन अतिथियों से परिचित कराया | उपस्थित सभा को दीपावली की शुभकामनाएं दी | डॉ.रमा द्विवेदी ने विजयकुमार का परिचय दिया | तत्पश्चात क्लब की ओर से मंचासीन अतिथियों का अंगवस्त्र, माला, पुष्प से सम्मान किया गया | पुष्पक (क्लब प्रकाशन) भेंट की गई | इसी सत्र में रामाश्रय कृत “संचिता” काव्य संग्रह एवं सुरेखा शर्मा कृत “आओ पढ़े मनन करें” बाल एकांकी संग्रह का डॉ.देवेन्द्र शर्मा के करकमलों से तालियों की गूँज में लोकार्पण संपन्न हुआ | रामाश्रय ने क्लब की गतिविधि जानकर प्रसन्नता व्यक्त की | सुरेखा जी ने भी हैदराबाद में चल रहे इस साहित्यिक कार्य  की प्रशंसा की | विजयकुमार ने कहा कि हिंदी भाषा की सेवा में हमें जुड़े रहना है | 

डॉ.गोरखनाथ तिवारी ने पत्रकारिता पुरस्कार से हाल ही में सम्मानित होने पर अपने विचार रखे | डॉ.जी. नीरजा ने कहा कि मुझे सफलता की सीढ़ी तक पहुंचाने में मेरे गुरु की प्रेरणा रही है | डॉ.देवेन्द्र ने अध्यक्षीय बात में कहा कि शहर में पधारे अतिथियों से परिचय हुआ तथा उनके साहित्य का विमोचन कादम्बिनी क्लब के मंच से हुआ है यह मंच की उपलब्धि है | इस सत्र का संचालन मीना मूथा ने किया |

दूसरे सत्र में भंवरलाल उपाध्याय के संचालन में कविगोष्ठी का आयोजन हुआ | वेणुगोपाल भट्टड़, श्रीनिवास सावरीकर के सानिध्य में दीप पर्व को केन्द्रित करते हुए कविता, गीत, गजल, मुक्तक, हायकू सुनाए गए | इसमें भावना पुरोहित, संपत देवी मुरारका, एल.रंजना, लीला बजाज, सत्यनारायण काकडा, गौतम दीवाना, विजय विशाल, सीताराम माने, पुष्पा वर्मा, डॉ.रमा द्विवेदी, ज्योति नारायण, डॉ.अहिल्या मिश्र, मीना मूथा, आशीष नैथानी सलिल, एफ.एम,सलीम, गुरुदयाल अग्रवाल, सूरजप्रसाद सोनी, उमा सोनी, सरिता सुराणा जैन, पुरुषोतम कडेल, सुनीता गुप्ता, रतनलाल दरक, एस. सुजाता, जुगल बंग जुगल, प्रमोद कुमार पयासी, अजीत गुप्ता, शिवकुमार कोहिर तिवारी, डॉ.जी. नीरजा, विनीता शर्मा, रामाश्रय गोयल, सुरेखा शर्मा, विजयकुमार सम्पति, श्रीनिवास सावरीकर, वेणुगोपाल भट्टड़ ने भाग लिया | डॉ.सीता मिश्र, डॉ.मदन देवी पुकरणा, चंद्रलेखा कोठारी, श्रीनिवास सोमानी, वी.कृष्णराव भी अवसर पर उपस्थित थे |

 ज्योति नारायण के धन्यवाद के साथ गोष्ठी का समापन हुआ
[रिपोर्ट : संपत देवी मुरारका]