शुक्रवार, 20 मार्च 2015

उच्च शिक्षा और शोध संस्थान, हैदराबाद में राष्ट्रीय संगोष्ठी 28-29-30 मार्च को


'अँधेरे में' की अर्धशती पर विशेष आयोजन : 
12 भाषाओं में अनुवाद

हैदराबाद, 20 मार्च 2015.
दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा के विश्वविद्यालय विभाग, उच्च शिक्षा और शोध संस्थान के तत्वावधान में केंद्रीय हिंदी निदेशालय और स्टेट बैंक ऑफ़ हैदराबाद के सहयोग से आगामी 28, 29 और 30 मार्च को संस्थान के हैदराबाद केंद्र में त्रिदिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी आयोजित की जा रही है. यह राष्ट्रीय संगोष्ठी मुक्तिबोध की कविता 'अंधेर में' की अर्धशती को समर्पित है. 

संगोष्ठी का उद्घाटन मुख्य अतिथि के रूप में पधार रहे प्रख्यात साहित्यकार, सांसद और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री श्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' करेंगे तथा बतौर सम्मान्य अतिथि विश्वविख्यात कला संग्राहक एवं कला समीक्षक पद्मश्री जगदीश मित्तल इस संगोष्ठी में भाग लेंगे. बीज-भाषण महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा के पूर्व अधिष्ठाता प्रो. देवराज देंगे तथा उदघाटन सत्र की अध्यक्षता हेमवतीनंदन बहुगुणा विश्वविद्यालय के पूर्व प्राचार्य डॉ. योगेन्द्रनाथ शर्मा अरुण करेंगे. 

इस अवसर पर 'स्रवंति' के संगोष्ठी विशेषांक एवं  'अँधेरे में' के 12 भारतीय भाषाओँ में अनुवादों को लोकार्पित किया जाएगा तथा अनुवादकों का परिसंवाद भी होगा. साथ ही 'अँधेरे में' का मंचन भी प्रस्तुत किया जाएगा. 

संगोष्ठी के संयोजक सी. एस. होसगौडर  और निदेशक ऋषभदेव शर्मा ने सभी साहित्य प्रेमियों, हिंदी सेवियों, अनुवादकों, छात्रों और शोधार्थियों से  इस आयोजन में पधारने की अपील की है.  

- गुर्रमकोंडा नीरजा